बाड़मेर (मातृभूमि न्यूज़)। मंगलवार की रात एवं बुधवार की अल सुबह आई तुफानी बारिश एवं अधड़ के कारण बाड़मेर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में डिस्काॅम को बड़ा नुकसान हुआ हैं। मंगलवार रात को आए तुफान व बारिश से करीब करीब 564 विद्युत पोल टूट गए जिसके कारण 700 से अधिक गांवों की विद्युत आपूर्ति बंद हो गई थी। डिस्काॅम की टीमों ने त्वरित कार्यवाही करते हुए बुधवार शाम तक 600 के करीब गांवों की विद्युत आपूर्ति को सुचारू कर दिया हैं। शेष में विद्युत आपूर्ति को बहाल करने के लिए डिस्काॅम की टीमें युद्धस्तर पर कार्य कर रही हैं। इस तुफानी बारिश से डिस्काॅम को करीब 40 लाख रूपए नुकसान हुआ।  

यह जानकारी देते हुए अधीक्षण अभियंता बाड़मेर अजय माथुर ने बताया कि मंगलवार रात व बुधवार अलसुबह आई तुफानी बारिश व तेज हवा के कारण जिले के उपखण्ड चैहटन, धोरीमन्ना, सेड़वा व सिणधरी में भारी नुकसान हुआ हैं। इसके अलावा अन्य क्षेत्रों में भी विद्युत पोल टूटे हैं। तेज हवा व बारिश के कारण 33/11 केवी क्षमता के 57 जीएसएस बंद हो गए, जिसमें से 53 जीएसएस को पुनः चालू कर दिया गया, जबकि 4 जीएसएस की विद्युत आपूर्ति को सुचारू करने का कार्य प्रगति पर हैं। वहीं 33 केवी के 20 फीडर एवं 11 केवी के 281 फीडरों की विद्युत आपूर्ति बाधित हुई जिसमें 33 केवी के 19 फीडरों व 11 केवी के 207 फीडरों की विद्युत आपूर्ति को सुचारू कर दिया गया हैं। इन फीडरों के बंद होने से जिले के करीब 700 से अधिक गांवों की विद्युत आपूर्ति बंद हो गई थी। इसके बाद बुधवार को विद्युत आपूर्ति को सुचारू करने का कार्य शुरू किया गया। जहां बुधवार शाम तक 700 में से 600 गांवों की विद्युत आपूर्ति को सुचारू कर दी गई जबकि शेष की विद्युत आपूर्ति चालू करने के लिए टीमें कार्य कर रही हैं।  

564 पोल टूटे, 6 ट्रांसफाॅर्मर भी धराशाही- अधीक्षण अभियंता बाड़मेर अजय माथुर ने बताया कि मंगलवार रात को आए तुफानी बारिश के कारण जिले में करीब 564 विद्युत पोल टूट गए। इसमें 33 केवी के 23, 11 केवी के 353 एवं एलटी लाईन के 188 विद्युत पोल व तार टूट गई। वहीं 6 स्थानों पर विभिन्न क्षमता के ट्रांसफाॅर्मर भी विद्युत पोल टूटने के कारण क्षतिग्रस्त हो गए। रात को आई इस तुफानी बारिश के कारण डिस्काॅम को करीब 40 लाख रूपए का नुकसान पहुंचा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: